June 13, 2024
दिल्ली लाइब्रेरी एसोसिएशन

दिल्ली लाइब्रेरी एसोसिएशन संघ ने धूमधाम से मनाया 83 वां स्थापना दिवस

Share on

आज दिल्ली लाइब्रेरी एसोसिएशन संघ ने अपने 83 वां स्थापना दिवस एवं सम्मान समारोह का दिल्ली विश्वविद्यालय के कांफ्रेंस हॉल में बड़े धूमधाम से सफलतापूर्वक आयोजन संपन्न किया। इस पावन अवसर पर दिल्ली विश्वविद्यालय के माननीय कुलगुरू आदरणीय प्रोफ़ेसर योगेश सिंह ने, मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम के अतिविशिष्ट अतिथि के रूप में प्रसिद्ध वैज्ञानिक एवं पूर्व यूजीसी के चेयरमैन प्रोफेसर बी.एस चौहान, उत्तरी दिल्ली के सम्मानित मेयर श्री राजा इकबाल सिंह एवं डीआरडीओ के निर्देशक प्रसिद्ध रक्षा वैज्ञानिक डॉक्टर के नागेश्वरा राव रहे।

इस कार्यक्रम का स्वागत सत्र का प्रारंभ दिल्ली लाइब्रेरी एसोसिएशन (DLA) के नवनिर्वाचित अध्यक्ष प्रोफेसर के पी सिंह जी ने किया। जिन्होंने  हाल ही में दिल्ली विश्वविद्यालय के गांधी भवन के निर्देशक के रूप में भी नई जिम्मेदारी संभाली है, उन्होंने दिल्ली पुस्तकालय संघ के सतत विकास की जीवंत यात्रा को दिल्ली विश्वविद्यालय के सर्वांगीण विकास के साथ जोड़ कर क्रमिक रूप से विकसित होते देखा।

इस संस्था की स्थापना वर्ष 1939 में तत्कालीन शिक्षा सचिव श्री फ्लिप जॉन सार्जेंट ने की जो इसके पहले अध्यक्ष रहे और दिल्ली विश्वविद्यालय के तत्कालीन कुलपति प्रोफेसर राम किशोर जी इसके पहले उपाध्यक्ष के रूप में सुशोभित हुए। इन दोनों शख्सियत का इसके विकास में बहुत ही अनुकरणीय भूमिका रही है। वर्ष 1939 से ही दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर्स और विद्वानों का इसके विकास में बहुत बड़ा और नियंतर योगदान मिलता रहा है। दिल्ली लाइब्रेरी संघ, आज पूरे भारत में लाइब्रेरी के बहुमुखी विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। मुख्य रूप से शिक्षा, अनुसंधान, तकनीक एवं पुस्तकालय विज्ञान विकास के क्षेत्र में इसकी भूमिका अति महत्वपूर्ण है।

इस्‍लामोफोबिया का प्रतिरोध: भारतीय परिदृश्‍य में

इस पावन मौके पर स्वयं दिल्ली लाइब्रेरी संघ (DLA) के नवनिर्वाचित अध्यक्ष ने दिल्ली लाइब्रेरी संघ को नई ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया। इस ऐतिहासिक मौके पर आदरणीय कुलगुरू, दिल्ली विश्वविद्यालय प्रोफेसर योगेश सिंह ने दिल्ली लाइब्रेरी एसोसिएशन के विकास में अपने विश्वविद्यालय की तरफ से सभी प्रकार के मदद और योगदान देने की अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की और इसके सर्वांगीण विकास में प्रत्येक स्तर पर मदद पहुंचाने की संकल्पना व्यक्त की।

ऐतिहासिक महोत्सव के पावन अवसर पर दिल्ली लाइब्रेरी संघ ने दिल्ली लाइब्रेरी एसोसिएशन से जुड़े अपना सर्वश्रेष्ठ देने वाले पुराने पायनियर विद्वानों को दिल्ली लाइब्रेरी एसोसिएशन (DLA ) का लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड ,DLA प्रोफेशनल एक्सीलेंस अवॉर्ड फॉर एल.आई. एस लीडर एवं DLA शांता विशिष्ट, पुरस्कारों से इस क्षेत्र में अपना बहुमूल्य योगदान देने वाले जानी-मानी हस्तियों को सम्मानित किया।

इस प्रतिष्ठित पुरस्कार से प्रोफेसर एस पी सिंह, प्रोफेसर जयदीप शर्मा, डॉक्टर प्रकाश चंद, डॉ सुनील कुमार, डॉक्टर गयास मखदूमी जैसे कुछ प्रमुख विद्वानों को सम्मानित किया गया। इस पावन अवसर पर पुस्तकालय विज्ञान के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ अंक पाने वाले विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया। अंत में इस कार्यक्रम के समापन धन्यवाद ज्ञापन के साथ DLA के महासचिव श्री ज्ञानेंद्र सिंह जी ने विशेष रुप से दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर योगेश सिंह जी एवं इस कार्यक्रम में दूर-दूर से आए सभी अति विशिष्ट अतिथियों, महानुभाव एवं शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों का दिल की गहराइयों से धन्यवाद, वंदन और आभार प्रकट किया।
साथ ही इस बात को दोहराया कि प्रोफेसर के पी सिंह जैसे बहु आयामी प्रतिभा के धनी व्यक्ति का दिल्ली लाइब्रेरी संघ DLA का अध्यक्ष के रूप में सुशोभित होना एक ऐतिहासिक अवसर है, जिससे कि पूरा DLA परिवार लाभान्वित होगा और देश को एक नई दिशा प्रदान करेगा।

कार्यक्रम को दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन के वरिष्ठ पदाधिकारीगण, विभिन्न संकायों के डीन, विभागाध्यक्ष, प्रोफेसर एवं दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न महाविद्यालयों के प्राचार्य, शिक्षकगण, दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (DUTA) के पदाधिकारीगण, कार्यकारी एवं अकादमिक परिषद के सदस्यगण, सूचना एवं लाइब्रेरी विज्ञान विभाग की नामी हस्तियों और विभिन्न क्षेत्रों से आए विद्वतजनों की गरिमामय मौजूदगी में बहुत ही हर्ष एवं उल्लास के साथ मनाया गया।