June 16, 2024
आजम खान

आजम खान फ़र्ज़ी मुक़दमों में जेल में और किसानों पर जीप चढाने वाला आज़ाद घूमेगा: अखिलेश यादव

Share on

अखिलेश यादव आज जेल में बंद समाजवादी पार्टी नेता आजम खान के गृह जिले रामपुर की विलासपुर सीट पर जनसभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि यह चुनाव लोकतंत्र और संविधान को बचाने का चुनाव है। समाजवादी पार्टी के मुखिया और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी का सबसे छोटा नेता छोटा झूठ बोलता है, बड़ा नेता बड़ा झूठ बोलता है और सबसे बड़ा नेता सबसे बड़ा झूठ बोलता है.

अखिलेश यादव ने कहा कि पहले चरण का मतदान हो चुका है और पश्चिमी यूपी की जनता ने बीजेपी की खाट खड़ी कर दी है. बाकी चरणों में बीजेपी का पूरी तरह सफाया हो जाएगा. इस बीच अखिलेश यादव ने आजम खान का जिक्र करते हुए कहा कि उनके खिलाफ फर्जी मामले दर्ज किए गए और उन्हें जेल में डाल दिया गया.

सुप्रीम कोर्ट का आजम खान की अंतरिम जमानत याचिका पर सुनवाई करने से इनकार

अखिलेश यादव ने कहा कि किसानों पर जीप चढाने वाले गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे को आज खुले आम छोड़ दिया गया है. अखिलेश यादव ने आशीष मिश्रा को इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिलने पर ये टिपण्णी की है। हालांकि आशीष को अभी तक रिहा नहीं किया गया है।

समाजवादी पार्टी प्रमुख ने कहा, “यह पहला चुनाव है जब आजम खान मौजूद नहीं हैं। जरा सोचिए कि उनके खिलाफ किस तरह के मामले दर्ज किए गए हैं। उनके खिलाफ बकरी चोरी, भैंस चोरी और किताब चोरी जैसे मामले दर्ज किये गए हैं। उनके खिलाफ दर्ज मामले फर्जी हैं। मैं कहना चाहता हूं कि एक झूठे मुक़दमे ज़्यादा लंबे नहीं चलते हैं। यह सच है कि वे मुसीबत में हैं, उन्हें परेशानी हो रही है। अब्दुल्ला को भी परेशान होना पड़ा। बीजेपी उन्हें परेशान कर रही है. लेकिन हमें कोर्ट पर भरोसा है. सभी फर्जी मामले हटा दिए जाएंगे।”

उन्होंने आगे कहा, कि “जिसने थार जीप चढ़ाई उसे खुला घूमने का मौका मिल रहा है। किसानों की जान चली गई है, अगर इसका कोई जिम्मेदार है तो वह गृह राज्य मंत्री और उनके बेटे हैं। सरकार ने अदालत में उचित पैरवी नहीं की है।

अखिलेश यादव ने कहा, “ये लोग (भाजपा) आजम खान के खिलाफ तो हैं ही, वे समृद्धि और शिक्षा के प्रति आजम खान की विचारधारा के भी खिलाफ हैं।” भाजपा के लोग जानते हैं कि जब लोग पढ़े-लिखे होंगे, तो वे भाजपा के जाल में नहीं फंसेंगे। हमें उम्मीद है कि उनकी सरकार के चले जाने से अन्याय का भी अंत हो जाएगा।