June 19, 2024
सेंट्रल ट्रेड यूनियन निजीकरण

सेंट्रल ट्रेड यूनियन के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल को बैंक यूनियन एआईबीए ने दिया समर्थन

Share on

गाजियाबाद, 28 मार्च (वेब वार्ता)। सेंट्रल ट्रेड यूनियन के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल को कई सरकारी बैंक से जुड़े संघटन एआईबीए ने अपना समर्थन दिया है। जिसमें ऑल इंडिया बैंक एम्प्लाइ एसोसिएशन की तरफ से भी बैंक कर्मचारी 2 दिन की हड़ताल पर हैं। बैंक कर्मचारीयो के सेंट्रल ट्रेड यूनियन की हड़ताल में शामिल होने की वजह से आज और कल 2 दिनों तक कई बैंक बन्द रहेंगे। बैंक कर्मचारियों की इस हड़ताल की वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। गाजियाबाद में कई प्रमुख बैंक के कर्मचारियो ने बैंक का कामकाज ठप्प रखने के साथ- साथ आज गाजियाबाद के नवयुग मार्केट इलाके में मौजूदा केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की हैं।

सप्ताह के पहले दिन ही शेयर बाजार में गिरावट का रुख

बता दें कि बैंक ऑफ बड़ौदा, पंजाब एंड सिंध, केनरा जैसे कई बैंको के एम्प्लॉई इस हड़ताल में शामिल है। सेंट्रल ट्रेड यूनियन के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल को इस बैंक यूनियन एआईबीए ने समर्थन दिया है। हड़ताली बैंक कर्मचारियों का कहना है कि वो लगातार पुरानी पेंशन बहाली और बैंकों के निजीकरण के साथ 5 डे वीक जैसी मांगो को लेकर विरोध कर रहे। सरकार ने उनसे इन मुद्दों को लेकर वादा किया था, लेकर उसके बाद से वो सरकार से इनकी मांग कर रहे थे। लेकिन सरकार के द्वारा उनकी मांगों को नजरअंदाज किया जा रहा है, जिसकी वजह से वह हड़ताल पर गए हैं। 

वहीं हड़ताली बैंक कर्मचारियों का कहना है कि अगर सरकार ने उनकी यह मांगे नहीं मानी तो अन्य बैंक यूनियन भी उनके संपर्क में है। जिसके बाद सभी बैंक कर्मचारी इस हड़ताल में शामिल हो सकते हैं। और उसके बाद भी उनकी मांगें नही मानी गयी तो वो अनिश्चित कालीन हड़ताल करने को मजबूर हो जाएंगे। हालांकि मिली जानकारी के अनुसार देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की यूनियन आज की हड़ताल में शामिल नही है। गौरतलब है कि कल रविवार की वजह से बैंको की छुट्टी थी। जबकि आज और कल दो दिन तक कई प्रमुख बैंक के संघठन हड़ताल पर है। ऐसे में जरूरी काम से बैंक पहुंच रहे लोग परेशान नजर आ रहे हैं। इन लोगों के अनुसार उन्हें बैंक आने पर इस हड़ताल की जानकारी मिली। जबकि उन्हें बैंक में जरूरी काम था। ऐसे में उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।