June 13, 2024
अंडर-19 वर्ल्ड कप

अंडर-19 वर्ल्ड कप:भारत पांचवी बार बना चैंपियन

Share on

अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारत पांचवी बार चैंपियन बन गया है। तेज गेंदबाज राज बावा (31 रन देकर 5 विकेट) और रवि कुमार (34 रन देकर 4 विकेट) की खतरनाक गेंदबाजी और शेख राशिद और निशात सिंधु (नाबाद 50) के अर्धशतकों की मदद से भारत ने इंग्लैंड को चार विकेट से हराकर पांचवीं बार आईसीसी अंडर-19 विश्व कप फाइनल जीत लिया है। भारत ने फाइनल में इंग्लैंड को 44.5 ओवर में 189 रनों पर समेट दिया, कुछ नाज़ुक लम्हों से गुजरने के बाद, भारत ने 47.4 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 196 रन का लक्ष्य हासिल कर के कर लिया है। निशात ने 48वें ओवर की पहली गेंद पर चौका लगाया और अगली गेंद पर सिंगल लेकर टूर्नामेंट का अपना पहला अर्धशतक पूरा किया, जबकि दिनेश बाना ने लगातार दो छक्कों के साथ मैच का अंत किया।

भारत ने इससे पहले 2000, 2008, 2012 और 2018 में अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता था, लेकिन इस हार की वजह से 24 साल बाद भी इंग्लैंड के विश्व चैंपियन बनने का सपना पूरा नहीं हो सका। इंग्लैंड ने यह पुरस्कार 1998 में जीता था। लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने दूसरी गेंद पर अपना पहला विकेट गंवा दिया। अंगकृष रघुवंशी बिना खाता खोले आउट हो गए। भारत का दूसरा विकेट 49 रनों पर हरनूर सिंह के रूप में गिरा वो 21 रन बनाकर आउट हुए। 95 रन के स्कोर पर 50 रन बनाकर शेख राशिद पवेलियन लौट गए. चौथा विकेट 97 रन के स्कोर पर कप्तान यश ढोल का गिरा उन्होंने 17 रन बनाये।

भारत ने वेस्टइंडीज को छह विकटों से हराया

निशात और राज बावा ने पांचवें विकेट के लिए 67 रन जोड़कर भारत को जीत के कगार पर पहुंचा दिया. राज बावा ने 54 गेंदों में 35 रन बनाए। कोशल तांबे नौ गेंदों पर एक रन बनाकर 176 रन के स्कोर पर आउट हुए। लेकिन निशात सिंधु ने धैर्य के साथ अपना अर्धशतक पूरा किया। दिनेश बाना ने पांच गेंदों में नाबाद 13 रन बनाकर भारत को पांचवीं बार विश्व चैंपियन बनाया। निशात 54 गेंदों में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से 50 रन बनाकर नाबाद रहे। राज बावा को प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। दक्षिण अफ्रीका के डेविड ब्रूस को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

इस अंडर-19 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड की पूरी टीम पहली बार आउट हुई थी। इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन शुरुआत ख़राब रही और 18 रन पर दो विकेट गंवा दिए। उसके बाद इंग्लैंड उबर नहीं पाया और 61 रन पर अपने छह विकेट गंवा दिए। इंग्लैंड का सातवां विकेट 91 पर गिरा। जेम्स रो और जेम्स सेल्स ने आठवें विकेट के लिए 93 रन की साझेदारी कर के इंग्लैंड की टीम को संभालने की कोशिश की.

जेम्स ने 116 गेंदों में 12 चौकों की मदद से 95 रन बनाए। जेम्स को आठवें बल्लेबाज के रूप में रवि ने आउट किया। रवि ने तीन गेंदों के बाद थॉमस एस्पानोल का विकेट भी लिया। राज बावा ने 9.5 ओवर में 31 रन देकर पांच विकेट लिए जबकि रवि ने नौ ओवर में 34 रन देकर चार विकेट लिए। कोशल तांबे को एक विकेट मिला। इंग्लैंड की तरफ से जेम्स सेल्स 65 गेंदों में 34 रन बनाकर नाबाद रहे।